Depression in Hindi Meaning [डिप्रेशन क्या है / अवसाद क्या है ]

आज के इस लेख में हम जानेंगे की Depression in Hindi Meaning साथ साथ डिप्रेशन क्या है? इसके होने के कारण तथा इसके बचाव के उपाय क्या क्या है हम सब इससे कैसे बच  सकते है |

Depression meaning in Hindi

-:Depression in Hindi Meaning:डिप्रेशन क्या है:-      

Depression को हिंदी में अवसाद भी कहते है | यह एक मानसिक बीमारी है जिसमे व्यक्ति चिंता , तनाव और डरा से घिरा हुआ रहता है | इसमे व्यक्ति के सोचने समझने की क्षमता ख़त्म हो जाती है | जब भी हम बहुत सोचते है और कई दिनों तक सोचते रहते है तब हमें तब हमें Depression होता है | यह एक Bio-Psychological  problem होता है |

Depression होने के कारण :-

डिप्रेशन होने के बहुत सारे करना है | हम यहाँ आपको कुछ कारणों की विवेचना करके बताते  है की कौन सा कारण  किस प्रकार हमें डिप्रेशन का शिकार बना देता  है | कुछ मुख्य कारण निम्नवत है –

Exam में fail होने पर :-  यह डिप्रेशन का एक महत्वपूर्ण कारक है | आये दिन बहुत सारे ऐसे केसेस देखे गए है कि एग्जाम न पास कर पाने के कारण बच्चे ने आत्महत्या कर लिया | अगर कोई व्यक्ति आपने exam में fail हो जाता है तो  वह उसी बात को लेकर बहुत चिंतित हो जाता है | और चिंता ही डिप्रेशन का मुख्या कारण है | इसके साथ साथ नौकरी न लगना भी डिप्रेशन का कारण है | जो व्यक्ति बहुत दिनों से पढाई कर रहा है यदि उसकी नौकरी नहीं लगती है तो वह काफी निराश और हताश हो जाता है, जिससे डिप्रेशन को बढ़ावा मिलता है |

जीवन में कोई बड़ा परिवर्तन होने पर :-सबके जीवन मे कोई न कोई बड़ा परिवर्तन या संघर्ष  होता है अगर यह परिवर्तन हानिकारक है तो इससे डिप्रेशन हो जाता है | बड़ा परिवर्तन मतलब कोई दुर्घटन घटित होना | किसी आपने बहुत करीबी या घर के सदस्य को खो देना | इन सब के कारण  डिप्रेशन होता है |

आर्थिक समस्या उत्पन्न होने पर :-  बहुत सारे राज्यों में आपने सुना होगा की किसान ने आत्महत्या की | जब किसान की फासले बर्बाद में जाती है बाढ़, सूखा या किसी भी करना से और किसानो को आर्थिक तंगी से गुजरना पड़ता  है तो किसानो का जीवन तनाव पूर्ण होने लगता है और वह डिप्रेशन का शिकार हो जाते है | किसानो ही नहीं अपितु बहुत सारे व्यक्तियों को आर्थिक समस्या के करना डिप्रेशन हो जाता है |

हार्मोन्स में परिवर्तन होने पर :-  इसके कारण भी व्यक्ति डिप्रेशन का शिकार हो जाता है | महिलाओं में प्रसव होने तथा थायराइड की समस्या उत्पन्न होने से भी डिप्रेशन होता है |

मौसम में परिवर्तन होने पर:- कभी कभी मौसम में परिवर्तन होने के कर्ण भी हमें डिप्रेशन हो जाता है | बहुत से व्यक्तियों में देखा गया है कि सर्दियों में जब दिन छोटा होता है और धूप नहीं होती है तो सुस्ती , थकान और रोजाना के कार्यो को करने में खुद को अरुचि महसूस करने लगते है हालाँकि सर्दी ख़त्म होने के साथ साथ यह समस्या दूर हो जाती है |

डिप्रेशन के और बहुत सारे कारण है जैसे-प्यार में धोखा खाने, मनचाही वस्तु न प्राप्त कर पाने किसी से लड़ाई झगड़ा हो जाने, कही अनजान जगहों पर बंधक बना लिए जाने आदि |

Note- हमारे शरीर में कुछ न्यूरोट्रांसमीटर होते है | जैसे- डोपामाइन, सेरोटोनिन, नोरेपाइनफिरिन आदि ये हमारे अन्दर ख़ुशी और आनंद की भावना को प्रभावित करते है लेकिन डिप्रेशन की स्थिति में ये असंतुलित हो जाते है जिससे डिप्रेशन हो सकता है | ये क्यों असंतुलित होते है अभी तक इसका कोई पत्र नहीं चला है |

जब हम बहुत सोचते है तब हमारे brain में एक Cortisol नामक  हार्मोन बनता है | इसी हार्मोन के कारण तनाव उत्पन्न होता है और धीरे धीरे यही तनाव depression में बदल जाता है | 

-:Depression के लक्षण:-

डिप्रेशन के निम्नलिखित लक्षण होते है-Depression in Hindi Meaning 

  • अचानक गुस्सा होना, चिडचिडाना |
  • नींद कम आना अथवा नींद बहुत ज्यदा आना |
  • आलसीपन हो जाना- कोई कम करने में मन न लगे. एक ही जगह बैठ जाये उठे ही न |
  • ज्यदा अकेले रहना पसंद करना |
  • भीड़ से हटके रहना |
  • किसी भी कार्य में ध्यान केन्द्रित न कर पाना |
  • आत्मविश्वास की कमी होना |
  • हमेशा बेचैनी और चिंता में डूबे रहना |
  • हमेशा कुछ बुरा होने की संका बना रहना |

भारत देश में कोई डिप्रेशन को seriously नहीं लेता है | लोग इसे हल्के में लेके छोड़ देते है, जो बाद में आगे चलकर प्राणघातक बन जाता है | आज की इस पीडी को इस बारे में बात करके और जगरूप करने की जरुरत है | लडको को डिप्रेशन ज्यादा होता है क्योकि लडको को बचपन से यही बताया जाता है कि आप बहुत strong हो बहुत बलवान हो |इसी लिए लड़के इसे ज्यादा नहीं देते है | अगर उनको इस तरीके की कोई समस्या है तो  वह किसी को नहीं बताते है | भारत में Depression से मरने वालो की संख्या में बहुत तेजी से वृद्धि हो रही है | 13- से 21 वर्ष के लोगो को बहुत ज्यादा डिप्रेशन होता है | इसी आयु में बच्चो पर माता-पिता का भी प्रेशर होता है कि हमारा बच्चा exam में ज्यादा मार्क्स लेके आये |

-:Depression के प्रकार:-

डिप्रेशन मुख्यत तीन तरीके का होता है |

  1. Prolonged Depression- यह First स्टेज का डिप्रेशन होता है | इस डिप्रेशन से व्यक्ति को बचाया जा सकता है |
  2. Psychotic Depression- यह डिप्रेशन दुसरे स्टेज का होता है | इसके लिए व्यक्ति को दावा की जरुरत होती है | इसी प्रकार के डिप्रेशन में व्यक्ति के अन्दर सुसाइड करने का विचार आता है |
  3. Seasonal Depression- यह एक प्रकार का मौसमी डिप्रेशन होता है | इसमें धूप न लगना और  बहुत से कारण हो सकते है |

-:Depression का इलाज:-

डिप्रेशन के लक्षण दिखाई देते ही अगर आप इलाज करवा लेते है तो आप इससे बच सकते है | इसके कुछ इलाज निम्नवत इस प्रकार से है-

  • एक दुसरे से बात करे | आपनी बातो को आपने दोस्तों या परिवार वालो के साथ शेयर जरुर करे |
  • सुबह के समय बाहर खुले में घूमे |
  • आपने आपको आपने कामो में बिजी रखे है |
  • सबसे ज्यादा जरुरी है की आप रोजाना सुबह उठकर मैडिटेशन करे | meditation करने से आपके दिमाग को आराम मिलता है | गलत बाते जो आपके दिमाग में भरी पड़ी हुई है ओं आपने आप ही ख़त्म हो जाती है |
  • अगर आपको दुसरे तरीके का डिप्रेशन हो गया है तो आपको  Psychologist अथवा Psychiatrist से संपर्क करने की जरुरत है | ये एक प्रकार के मनोरोगविशेषज्ञ होते है |

Note- Psychologist- यह केवल बातो को सुनते है तथा सलाह देते है की आपको क्या करना चाहिए या नहीं | यह दावा नहीं देते है | और जो  Psychiatrist होते है यह आपकी समस्या को सुनते है और दावा भी आपको प्रदान करते है |

आशा है कि आप लोगो को Depression in Hindi Meaning तथा डिप्रेशन क्या है इसके लक्षण, कारण और इलाज समझ में आया होगा | किसी भी तरीके का मन में  सवाल होने पर आप comment बॉक्स में पूछ सकते है | इसके साथ साथ आप इसे भी पढ़ सकते है –

रक्त परिसंचरण तंत्र क्या होता है ?

पोषण किसे कहते हैं | विटामिन के बारे में सब कुछ जाने 

Global Warming In Hindi:ग्लोबल वार्मिंग क्या है

पीडीऍफ़ के लिए आप मेरे टेलीग्राम चैनल से जुड़ सकते है |Join Now 

Leave a Comment