संज्ञा की परिभाषा | संज्ञा के भेद सहित उदहारण [संज्ञा वाक्य के 10 उदाहरण]

आज के इस लेख में हम सब  जानेगे की संज्ञा की परिभाषा? संज्ञा क्या है? संज्ञा के भेद कौन कौन से होते है तथा उन सबके उदहारण क्या है | आइये हम विस्तार से इसकी जानकारी प्राप्त करते है |

निम्न परीक्षाओं के लिए उपयोगी-

अगर आप किसी ONE DAY exam की तैयारी कर रहे है इसके अलावा जिसमे हिंदी विषय को पूछा जाता है तो यह आपके परीक्षा के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण शाबित हो सकता है |

संज्ञा की परिभाषा

संज्ञा सम+ज्ञा से मिलकर बना शब्द है | जिसमे सम का अर्थ समान तथा ज्ञा का अर्थ जानना होता है, अर्थात जिसको समान रूप से जाना जाये वह संज्ञा होता है | संज्ञा का प्रयोग किसी वस्तु, व्यक्ति, स्थान,प्राणी, अवस्था,भाव का बोध करने के लिए होता है |

संज्ञा के भेद

संज्ञा के मूल भेद तीन होते है | प्रयोग हम पांच संज्ञा का करते है |

  1. जातिवाचक संज्ञा
  2. व्यक्तिवाचक संज्ञा
  3. भाववाचक संज्ञा
  4. समूहवाचक संज्ञा
  5. द्रव्यवाचक संज्ञा

नोट- अगर आपकी परीक्षा में संज्ञा के कितने भेद है पूछा जाता है और विकल्प में तीन और पांच दोनों है तो आप पांच पर लगायेंगे | अगर आप से मूल संज्ञा के किटें भेद होते है तो वहा आप तीन पर ही लगायेंगे |

जातिवाचक संज्ञा

जो संज्ञा किसी वस्तु, पदार्थ,प्राणी,की जाति, समुदाय, वर्ग, समष्टि का बोड कराये तो वह जातिवाचक संज्ञा कहलाती है | जैसे गाये, पर्वत, लड़का, नदी, नहर, फल, जानवर, पशु, पक्षी, देश, राज्य, राजधानी, नगर, शहर, आदि |

उदहारण-

  • भारत नदियों का देश है |                                           – जातिवाचक संज्ञा
  • भारत में अनके नदी बहती है |                                   – जातिवाचक संज्ञा
  • गंगा नदी सबसे पवित्र नदी है |                                   – व्यक्तिवाचक संज्ञा
  • हिमालय पर्वत भारत का मुकुट है |                             – व्यक्तिवाचक संज्ञा
  • शेर ताकतवर होता  है |                                               – व्यक्तिवाचक संज्ञा
  • जानवर में शेर ताकतवर है |                                         – जातिवाचक संज्ञा
  • पशुओं का राजा शेर होता है |                                        – व्यक्तिवाचक संज्ञा
  • मोर भारत का राष्ट्रिय पक्षी है |                                        – व्यक्तिवाचक संज्ञा
  • खानवा का युद्ध राणा सांगा वा बाबर के मद्य लड़ा गया | – व्यक्तिवाचक संज्ञा
  • मोहन एक होनहार लड़का है |                                       – व्यक्तिवाचक संज्ञा

नोट-  1-जब व्यक्तिवाचक संज्ञा का प्रयोग किसी वर्ग समुदाय जाति विशेष के लिए किया जाये तो वे संज्ञाए जातिवाचक बन जाती है |

2-जब व्यक्तिवाचक संज्ञा का प्रयोग अनेको अनेक के लिए हो अर्थात बहुवचन में हो तो वे जातिवाचक कहलाती है | जैसे- कृष्ण, कंस, राम,रावण, कुम्कर्ण, सीता, सावित्री, नेपोलियन, हरिश्चंद्र आदि |

उदहारण-

  • परीक्षा समाप्त होते ही सभी छात्र कुम्भ्करनी नीद में चले गए |
  • भारत में रावणों की कमी नहीं है |
  • राजनीति में जयचंदों की फ़ौज हमेशा रही है |
  • भारत में एक समय ऐसा था जब हर घर में सती सावित्री रहती थी |

भाववाचक संज्ञा

ये अस्पर्शी होती है, अनुभवजन्य होती है, प्रत्यय लगा होता है, कुछ बिना प्रत्यय के स्वतंत्र भी होती है | जैसे- मिठास, मधुरता, सुन्दरता, कडवाहट, बचपन, बुढ़ापा, गन्दगी, लिखावट, पढाई, तैराक, उमंग, उल्लास, अच्छाई, सच्चाई, हरियाली, सजावट, लज्जाना, शर्मना, वीरता, साहसी, बहादुरी, कर्मठता, ईमानदारी, हर्षित, सुखी, दुखी, प्रेमी |

उदहारण-

  • बचपन बड़ा सुहावना होता है |
  • जवानी में अनेक भूल हो जाती है |
  • बुढ़ापा अनेक बीमारियों की जड़ है |
  • मोदी जी ने लोगो को गंदगी के प्रति जगरूप किया |
  • ताजमहल की शुन्द्र्ता फीकी पढ़ रही है |

समूहवाचक संज्ञा

सभा, समित्ति, संघ, संगठन, संस्था, सेना, कक्षा, भीड़, झुण्ड, झुरमुट, कबीला, काफिला,गुन्झा, जत्था, बाजार आदि | शब्द जहा प्रयुक्त होते है वहा समूहवाचक संज्ञा होता है |

उदहारण-

  • तीर्थ यात्रियों का जत्था जा रहा है |
  • ऊटो का काफिला जाता है |
  • जानवरों जा झुण्ड जा रहा है |
  • वनस्पति झुरमुट में पाई जाती है |

द्रव्यवाचक संज्ञा

ये ठोस वा तरल पदार्थ के रूप में पाई जाती है | धातु और अधातु के रूप में होती है | इनको मापा वा तौला जाता है | ढेर के रूप में होती है | इसकी गिनती नहीं की जा सकती है | जैसे-  पत्थर, पानी, सोना, आक्सीजन, ढूध, चावल, मिट्टी, फल, सब्जी, आटा, चना, दाल आदि |

आशा है की आप लोगो को संज्ञा की परिभाषा? से सम्बंधित सारी बाते आपको समझ आयी होंगी | किसी भी जानकारी या dbout के लिए आप comment कर सकते है |

इसे भी पढ़े-

वाक्य के भेद,अंग, अवयव और उदहारण [ vakya ke bhed ]

karak kise kahate hain [ कारक की पहचान भेद और उदहारण ]

Pm Kisan Status [ प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में आपना नाम कैसे देखे ]

Depression in Hindi Meaning [डिप्रेशन क्या है / अवसाद क्या है ]

Downlod  PDF 

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment